मेरी बहना

नाज हो मेरा ओ मेरी बहना
मेरा तुमसे बस यही कहना
हमेशा तुम खुश रहना ।

गम के बादल छट जायेंगे
होठ तुम्हारे मुस्कायेंगे ,
खुशियों के दिन आएंगे ।

पलभर की है बातें सारी
रास्ता देखे जीत तुम्हारी ,
किस्मत से मेहनत है भारी ।

यूँही अकेली बढ़ती रहना
गम से अपने लड़ती रहना ,
विजयी होगी मेरी बहना ।

निशांत चौबे ‘अज्ञानी’
१७.०५.२०१७

About the author

nishantchoubey

Hi! I am Nishant Choubey and I have created this blog to share my views through poetry, art and words.

View all posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *